Mythology

कल्कि तुम कब आओगे

चहुँ ओर जो कहर मचा है प्रांत देश में समर छिड़ा है मानवता को पतन के पथ से वापस कब मुड़वाओगे कल्कि तुम कब आओगे अभी पहले में कुछ तिनके पड़े हैँ पर कलयुग के तो सात घड़े हैं...
More Here »
12